Saturday, February 3, 2007

तुम्हारा ख्याल..


जानती नहीं मैं..

कि तुम कौन हो?

कि तुम कहां हो?

पर तुम हो..

यहीं-कहीं मेरे पास ही,

तुम चलते हो मेरे साथ,

मेरे साये की तरह,

तुम्हारे होने के एह्सास से..

महका सा है मेरा मन,

जानती हूं मैं..

तुम आओगे एक दिन,

और भर जाओगे सारा सूनापन ,

फ़िर आज चाहे तुम..

मेरा ख्याल ही सही..।

8 comments:

ranju said...

एक साया सा कोई मेरे साथ साथ चलता है
तेरा वजूद जब मेरी धड़कनो में ढलता है
बसा लेते हैं हम तुझे अपने हर ख़्याल में
तेरे आने की आस से ही इस मन का दीप जलता है !!

Divine India said...

एक अनछुआ-अनकहा एहसास सांसो में बसा है उमंगे जवा करके…जो काबिले दीदार हो मेरी जिज्ञासा के लिए…मेरे सतहों हों को टटोलकर गुजर जाता है…मौसम बन्…!!कम शब्दों में अच्छा कह दिया…!!!

Upasthit said...

Pata nahi yah sahi hai ya nahi, par aseem satta se, mera, mere ek ek kshan ka ek ek kan ka kuch naata hai. Kami hai jo bas vahi puri kar sakta hai. Koi kahta hai, vah mujhme hai, par main ramta kyon nahi, mujhe uski talaash kyon hai. Ek bhram hai har kahin faila, beshak apkli kavita me bhi, jo itna ghana hai ki aap aashvast ho chuki hain, ki vo saaye saa saath hai, par fir bhi itjaar hai ki ek din ayega(bhram nahi to kya hai ye?). Prakriti mujhme hai, main prakriti se hun, fir bhi prakratik kyun nahi ho paata, bhram se ghiraa maaya me duuba mai, nakali kyon hun. Aur haan jaisa ki kavita kahti hai apki, saaye sa saath, fir intjaar kaisa....?(ye vishvasaneeya bhram hai ya, bhramit vishvaas?)

manya said...

well upasthit ji.. sabse pahle dhanywaad ki itna samay dia meri kavita ko.. sirf it kahungi ye bharmit wishwaas nhn h.. ye wishwaas h dur rah ke bhi paas hone ka aur intzaar h .. in duriyon ke khatan hone ka.. wo kahte hn na "faasla to hai par koi faasla nhn mujhse tum juda sahi dil se tum juda nahi"

Jitendra Chaudhary said...

अरे इस पहेली का जवाब तो

मोबाइल फोन है।
पर तुम हो..
यहीं-कहीं मेरे पास ही, : जेब में
तुम्हारे होने के एह्सास से..
महका सा है मेरा मन, सच है

तुम आओगे एक दिन,
और भर जाओगे सारा सूनापन , देखो फोन बज रहा है।

manya said...

Shukriya Jitu bhai aapne to paheli solve kar di... :)

manya said...

Dhanywad Divya N Ranju..

vidhya said...

bahut hi sundar